Tandav Controversy Reel To Real: तांडव वेबसीरीज पर मचे बवाल का असर उत्तर प्रदेश से मध्य प्रदेश तक देखा जा रहा है. उत्तर प्रदेश में जहां फिल्म को लेकर प्राथमिकी दर्ज की जा रही है वहीं अब मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि हम इस वेब सीरीज को बैन लगाने के बारे में सोच रहे हैं. उन्होंने कहा है कि तांडव वेब सीरीज में हमारे धर्म पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है मैं इसकी निंदा करता हूं और मध्य प्रदेश की सरकार भी इस पर केस दर्ज करेगी. Also Read - UP News: मुख्तार अंसारी संबंधी एम्बुलेंस मामले में डॉक्‍टर समेत दो गिरफ्तार, जांच में जुटी SIT

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उत्तर प्रदेश के समाजवादी नेता अखिलेश यादव पर तंज कसा और कहा कि कोई भी विषय हिंदू धर्म के खिलाफ होता है उस पर अखिलेश यादव जैसे लोग तांडव करते हैं. मेरा उनसे सवाल है कि आज तक जितनी भी फिल्में बनी हिंदू धर्म के अलावा कभी किसी धर्म पर टिप्पणी की गई क्या? Also Read - मध्य प्रदेश: कोरोना संकट के बीच मुख्यमंत्री का बड़ा ऐलान, गरीबों को 3 माह का राशन निशुल्क मिलेगा

उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म ही हर बार क्यों निशाने पर आता है, इस पर कोई तांडव करता है और हम विरोध करते हैं तो उन्हें क्यों बुरा लगता है इसका जवाब उन्हें देना चाहिए. Also Read - BSP प्रमुख मायावती ने राज्यों में ऑक्सीजन की कमी पर जताई चिंता

नोएडा में भी तांडव पर एफआईआर दर्ज

वहीं नोएडा के डीसीपी राजेश कुमार ने बताया है कि रबूपुरा में एक स्थानीय व्यक्ति ने वेब सीरीज तांडव में दिखाए गए दलित अपमान, जातिगत विद्वेष की भावना, धार्मिक भावना भड़काने और उच्च संवैधानिक पदों पर आसीन व्यक्तियों द्वारा गलत वार्तालाप करना दिखाए जाने को लेकर मामला दर्ज़ कराया है.

उन्होंने कहा कि इस संबंध में तांडव वेब सीरीज के निर्देशक, अमेजन प्राइम वीडियो के इंडिया हेड, अभिनेता, अभिनेत्री और लेखकों के खिलाफ मामला दर्ज़ किया गया है. मामले में SC/ST एक्ट लगा है इसलिए राजपत्रित अधिकारी द्वारा इसकी विवेचना की जाएगी.

बसपा सुप्रीमो मायावती-कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने कही थी ये बात

सोमवार को बीएसपी चीफ मायावती ने भी तांडव को लेकर कहा है कि यदि इसमें कुछ भी आपत्तिजनक है तो उसे हटाया जाना चाहिए। देश में सांप्रदायिक सद्भाव और भाईचारे के माहौल को बनाए रखने के लिए किसी भी विवादित सामग्री को वापस लिया जाना चाहिए।

कांग्रेस लीडर मिलिंद देवड़ा ने भी कुछ ऐसी ही राय व्यक्त की है.उन्होंने तांडव वेब सीरीज को लेकर सीधे तौर पर तो कुछ नहीं कहा है, लेकिन ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को लेकर नियमावली तैयार करने की बात जरूरत कही है. उन्होंने कहा कि हम सेंसर का समर्थन नहीं करते, लेकिन रेगुलेशन होना चाहिए.

वेब सीरीज के निर्माताओं ने मांगी माफी 

तांडव वेब सीरीज से लेकर उपजे विवाद को लेकर इसके निर्माताओं ने माफी मांगी है. वेब सीरीज के निर्माताओं की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ‘वेब सीरीज की कास्ट और क्रू मेंबर्स का मकसद किसी व्यक्ति, जाति, संप्रदाय, नस्ल, धर्म या फिर सामुदायिक समूह की भावनाएं आहत करना नहीं था. यदि किसी भी भावनाएं इससे आहत हुई हैं तो हम बिना शर्त इसके लिए माफी मांगते हैं.’

किस सीन पर मचा है बवाल, जानिए…

पूरा विवाद वेब सीरीज पर विवाद पहले एपिसोड के ही एक सीन पर है. इसमें अभिनेता मोहम्मद जीशान अयूब भगवान शिव बने नजर आ रहे हैं और यूनिवर्सिटी के छात्रों को संबोधित करते हुए कहते हैं, “आखिर आपको किससे आजादी चाहिए.” उनके मंच पर आते ही एक मंच संचालक कहता है, “नारायण-नारायण. प्रभु कुछ कीजिए. रामजी के फॉलोअर्स लगातार सोशल मीडिया पर बढ़ते ही जा रहे हैं.”

इसके साथ ही एक और विवादित डायलॉग की बात करें तो, कॉलेज का एक युवा लड़की से कहता है, “जब एक छोटी जाति का आदमी एक ऊंची जाति की औरत को डेट करता है न तो वह बदला ले रहा होता है, सिर्फ उस एक औरत से.”

中国做爰国产精品视频_男人桶女人肌肌午夜视频_亚洲亚洲人成综合网站图片_韩国免费A级作爱片